July 14, 2024

उत्तराखण्ड मिलेट महोत्सव का दूसरा दिन: केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री, सांसद निशंक, हरियाणा के कृषि मंत्री व मंत्री गणेश जोशी ने किया प्रतिभाग

1 min read

देहरादून: अंतरराष्ट्रीय मिलेट वर्ष के उपलक्ष्य में कृषि विभाग द्वारा देहरादून में आयोजित उत्तराखण्ड श्री अन्न महोत्सव 2023 के दूसरे दिन कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी तथा विशिष्ट अतिथि के तौर पर हरियाणा के कृषि मंत्री जय प्रकाश दलाल, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक ने प्रतिभाग कर शुभांरभ किया। इस अवसर पर महोत्सव में उपस्थित सभी अतिथियों ने मिलेट्स पर आधारित विभिन्न स्टोलों का निरीक्षण किया। कृषि मंत्री जोशी ने सभी अतिथियों को पहाड़ी टोपी शाल और पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया।

महोत्सव में कृषि विभाग द्वारा मिलेट्स राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन योजनान्तर्गत फसली वर्ष 2021-22 के आधार पर जिले की कृषि (खाद्यान्न / फसल उत्पादन) में उत्कृष्ट कार्य के लिये कृषकों रू.10 हजार की सम्मान राशि, स्मृति चिन्ह और प्रमाणपत्र देकर पुरुस्कृत किया गया। इसके अतिरिक्त
राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन योजनान्तर्गत लघु एवं सीमान्त कृषकों के बच्चों को प्रोत्साहन राशि जनपद पौड़ी के छात्र / छात्राओं को हाईस्कूल के जतिन सिंह, इण्टरमीडिएट के आशीष कुमार और शुभाषी, स्नातक के भारत भूषण को प्रोत्साहित राशि प्रदान की गई।

अपने संबोधन में केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन को आगे ले जाने का कार्य करने के लिए कृषि मंत्री गणेश जोशी को इस आयोजन के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री मोदी के प्रयासों से भारत आज श्री अन्न (मिलेट) का नेतृत्व कर रहा है। केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा उत्तराखंड में कृषि के क्षेत्र में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और कृषि मंत्री गणेश जोशी द्वारा किए जा रहे अभिनव पहल निश्चित ही अपने लक्ष्यों को हासिल करेंगे। उन्होंने किसानों और आम जनमानस से श्री अन्न को अपने नियमित रूप में त्योहारों शादियों समारोह में श्री अन्न को शामिल करने का भी अनुरोध किया।

हरियाणा के कृषि मंत्री जय प्रकाश दलाल ने अपने संबोधन में श्री अन्न के लाभ और उसके महत्व पर प्रकाश डाला। इसके साथ ही हरियाणा के कृषि मंत्री जय प्रकाश ने उत्तराखंड सरकार के कृषि विभाग द्वारा आयोजित श्री अन्न महोत्सव के आयोजन की जमकर सराहना की।
पूर्व मुख्यमंत्री एवम् सांसद रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिकल्पना को उत्तराखंड में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृव में श्री अन्न को बढ़ावा देने तथा उसके उत्पादन के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे है।

कृषि मंत्री गणेश जोशी ने अपने संबोधन में कहा श्री अन्न उत्तराखंड की परंपरागत खेती में है। श्री अन्न स्वास्थ्य की दृष्टि से इतना लाभदायक है कि जो कभी गरीबों का खाद्यान्न हुआ करता था। आज अमीरों की थाली में शामिल हो गया है। मंत्री गणेश जोशी ने कहा श्री अन्न के प्रोत्साहन और उसके प्रचार-प्रसार के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में लगातार विशेष प्रयास किए जा रहे हैं। राज्य में स्टेट मिलेट मिशन के अंतर्गत 73 करोड़ रूपए की बजट में प्रावधान किया गया है। कृषि मंत्री गणेश जोशी ने केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री कैलाश चौधरी से परम्परागत फसलो के सन्दर्भ मे प्रदेश में झंगोरा, रामदाना एवं काकुनी फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य, मण्डुवा फसल की भाँति खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय के माध्यम से जारी किये जाने का भी आग्रह किया। इसके अतिरिक्त राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में गहत जिसका क्षेत्रफल 11591 है० तथा भट्ट (काला सोयाबीन) जिसका क्षेत्रफल 8125 है0 है, को भी खाद्य सुरक्षा एवं पोशण मिषन के अन्तर्गत गहत व काला भट्ट फसल के सत्यापित बीज के प्रयोग की अनुमति प्रदान करने का अनुरोध भी किया। मंत्री जोशी ने कहा इन फसलों को पर्वतीय क्षेत्रों में बढ़ावा देकर कृषकों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।

इस अवसर पर कृषि सचिव डॉ बीवीआरसी पुरुषोत्तम, निदेशक गौरी शंकर, सिद्दार्थ उमेश अग्रवाल, जोगेंद्र पुंडीर, चौधरी अजीत सिंह, सुरेंद्र राणा सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.